best and useful technique of poultry farming business in India in Hindi

0
Advertisement

अगर आप भी सोच रहे है poultry farming का बिज़नेस शुरू करने के बारे में तो यह chicken farming technique आपको काफी मदद करेंगे। इस poultry farming technique के माध्यम से आप अपना खुद का मुर्गी पालन के व्यवसाय शुरू कर सकते है और एक सफल व्यवसाय बना सकते है।

किसी व्यवसाय को इस समय में शुरू करना काफी आसान हो गया है पर उस व्यवसाय को सफल बनाने के लिए काफी टेकनीक की जरूरत होती है।

इसलिए हम आज आपको कुछ ऐसे ही मुर्गी पालन के टेकनीक जो काफी आसान होने के होने के साथ ही साथ कारगर भी है।

यह भी पढ़ें: कुछ जानकारी डेरी फार्म बिज़नेस के बारे में

1. मुर्गे की नस्ल -Chicken breed

काफी मुर्गी पालन शुरू करने वाले यह गलती कर देते है। वह मुर्गे की नस्ल के बारे में नहीं समझ पाते है। ऐसे बहुत से मुर्गे की नस्ल होती है जिनका बढ़ने का समय, अधिकतर वजन, खाने के ढंग, अंडे देने के बारे में, इसके आलावा बीमारी से लड़ने की शक्ति।

यह सब जाना काफी जरुरी होता है जब कोई भी एक मुर्गी पालन का बिज़नेस शुरू करता है तो। जब इन सबको जानने के बाद एक मुर्गे की नस्ल लिया जाए तो काफी अच्छा होता है।

मुख्य रूप से मुर्गी पालन (poultry farming) के लिए दो तरह की मुर्गी होती है। पहली तरह की वह मुर्गी जो काफी जल्द बड़ी होती है और इसका शरीर काफी वजनदार भी होता है। यह मुर्गी इसलिए पाला जाता है ताकि इनसे मॉस प्राप्त किया जा सके। इस मुर्गी के नस्ल को broiler chicken कहा जाता है।

जो दूसरी तरह की मुर्गी पालन की जाती वह अंडे प्राप्त करने के लिए किया जाता है। यह मुर्गी वजन में ज्यादा नहीं होती है। पर यह काफी अंडे देने में सछम होती है। इस मुर्गी के नस्ल को Layers chicken कहा जाता है।

2. छोटे से शुरू करे- Start small in beginning

काफी लोग शुरू में ही काफी बड़ा मुर्गी पालन (poultry farming) का फार्म खोलते है और उसमे काफी मुर्गी के बच्चे भर देते है। यह करना कोई गलत नहीं है। पर इसमें एक जरूर नुकसान होता है, शुरू के दिनों में अगर मुर्गी पालन के बारे में जानकारी कम हुई। यह पूरा मुर्गी पालन सभालना में दिकत हुए तो बहुत बड़े नुकसान का सामना कर पड़ सकता है।

शुरू में मुर्गी पालन (poultry farming) का बिज़नेस छोटे से शुरू करे। धीरे धीरे जब इस बिज़नेस में आपको काफी कुछ सीखने को मिलेगा और कुछ दिकतो का सामना भी करना पड़ सकता है। पर आप जब यह सब सिख लगे तो आने वाले समय में एक बड़ा मुर्गी पालन बिज़नेस शुरू किया जा सकता है।

Advertisement

3. मांस वाली मुर्गी को पाले- meat poultry farming

हम जानते है कि जितना मुर्गे के मांस का मांग मार्किट में है उतना ही मांग मुर्गी के अंडे का भी है। पर मांस वाली मुर्गी को पालन काफी आसान होता है और साथ ही साथ इससे जल्द पैसा कमाया जा सकता है। इस मुर्गी को उतने समय के लिए ही पालन होता है जब तक यह पुरे तरह बड़ी न हो जाए और वजन न बढे। इसके बाद इसे मार्किट में बेच कर तुरंत और एक बार में पैसा कमाया जाता है।

अगर बात करे वह मुर्गी पालने की जो अंडे देती है। तो इन्हे छोटे से बड़े होने तक पालन होता है उसके बाद फिर उन्हें पालना होता है ताकि उनसे अंडे प्राप्त किया जा सके। इसलिए इन्हे काफी लम्बे समय तक पालना पोता है उसके बाद ही पैसा कमाया जा सकता है। इनसे एक बार में पैसा नहीं कमाया जा सकता है।

4. मांस पैकिंग और उत्पादन की दुकान Meat Packing & Production shop

इसे बहुत से लोग है जो खड़े मुर्गी को लेने पसंद नहीं करते है। 99.9% लोग मुर्गी के मांस को लेते है बजाए खड़ा (जिंदा) मुर्गी लेने के। इसके बहुत से कारण हो सकते है। अगर आप मुर्गी पालन (poultry farming) का बिज़नेस किया है तो आप मांस पैकिंग और उत्पादन की दुकान जरूर खोले। इसके माध्यम से आप काफी जल्द काफी पैसा कमा सकते है। अगर मुर्गी पालने के बाद उसे किसी और दुकानदार को बेच देंगे तो वह मुर्गी को काफी कम पैसा में लेके उसे महंगे दाम पर बेचते है।

मांस पैकिंग और उत्पादन की दुकान से एक अच्छा खासा ब्रांड बनाया जा सकता है। इस ब्रांड से काफी अच्छी खासी सेल हो जाएगा।

यह भी पढ़ें: बकरी पालन व्यवसाय के लाभ हिंदी में

5. डिजिटल मार्केटिंग का इस्तेमाल करें Use digital marketing

काफी लोग को अपने मोबाइल से कुछ मांगना काफी अच्छा और गौरव का काम लगता है। तो हमने आपको ऊपर बताया की आप जरूर एक मांस पैकिंग और उत्पादन की दुकान खोले। इस दुकान पर whastapp number दे कर सीधे ग्राहक के घर से फ़ोन के माद्यम से आर्डर लेकर उन्हें मांस पूछा दे।

अपने बिज़नेस को फ़ैलाने के लिए बड़ी से बड़ी और छोटी से छोटी डिजिटल मार्केटिंग का इस्तेमाल कर रही है। तो आप भी पाने बिज़नेस के लिए डिजिटल मार्केटिंग का इस्तेमाल करे। इससे आपको बिज़नेस में एक काफी उचाई मिलेगा।

6. जानवरों का डॉक्टर – animal doctor

ऐसे बहुत सी बीमारी होती है जो मुर्गी लांग जाती है। इसके कारण मुर्गी का वजन कम हो जाता है या मुर्गिया मर जाती है। ऐसे में काफी घाटा लगने की आसका होती है। इससे बचाव जानवरो के डॉक्टर कर सकते है। उन्हें मालूम होता है कि कब कौन सी बीमारी मुर्गी को लगेंगे और इसका दवा और बचाव किया होगा।

तो यह बिज़नेस शुरू करते समय एक अच्छे जानवर के डॉक्टर संपर्क बनाए रखे। यह डॉक्टर आपको बड़े घाटे से बचा सकता है।

7. समय के हिसाब से बदले Change over time

परिवर्तन के हिसाब से बदले या समय के साथ कुछ नया सीखना आपके लिए काफी अच्छा होगा। परिवर्तन के हिसाब से बदले से आपको काफी फायदा होगा। इस दुनिया का यह नियम ही है परिवर्तन के हिसाब से बदलते रहे तभी आप आगे जा सकते है।

Advertisement

यह भी पढ़ें: मछली पालन के फायदे हिंदी में

Previous articleBusiness marketing के कुछ तरीके जो आपके बिज़नेस को बहुत sucess तक लेकर जाएगे
Next articlefocus करने और focus को बढ़ाने का आसान तरीका हिंदी में
नमस्ते, मेरा नाम sohail है। मुझे बिज़नेस के बारे में लिखा पसंद है। मैंने खुद भी business किया है। मुझे बिज़नेस करने के लम्बे समय का ज्ञान है। मुझे बिज़नेस का ज्ञान बिज़नेस के किताब को पढ़ने से आता है। Email Id: [email protected]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here