डर को दूर और खत्म कैसे करे हिंदी में, डर को खत्म करने का तरीका

डर इंसान को हर वह काम करने से रोकता है जो काम उसके लिए नया या अलग हो। डर हर किसी के अंदर होता है।

सभी का डर अलग-अलग भी होता है पर जो अपने डर को डरा कर वह काम करता है जो काम उसके लिए फायदेमंद है तो वही एक दिन सफल होता है।

डर अच्छा भी होता है और बुरा भी। डर का कारण और रूप हर किसी के लिए अलग-अलग होता है। किसी को पढ़ाई से डर लगता है तो किसी को अपने समय को ख़राब करने से डर लगता है।

अगर बुरे काम को करने में डर लगे तो डर अच्छा होता है वही अगर अच्छा काम करने में डर लगे तो यह डर नुकसान का कारण बनता है।

अगर आपको भी किसी काम को करने में डर लगता है तो हम इस पोस्ट में जानेगे कि आप कैसे अपने डर को कम कर सकते है।

अकसर हमें उस काम को करने में डर लगता है जिस काम को हमें पहले कभी नहीं किया हो। जैसे किसी नई स्किल को सीखना, किसी नए व्यक्ति से बात करना, आदि।

वही हमें उस समय भी डर लगता है जब हम ऐसे किसी काम को करने वाले होते है जिसके बारे में हमें कोई जानकारी नहीं होती है। जैसे अपना कैरियर पसंद करना, कोई बिज़नेस करना आदि।

इसके साथ ही कुछ ऐसी चीजों से भी डर लगता है जिसके बारे में हमें बचपन से डराया जाता हो। भले ही उसका अस्तित्व हो या नहीं। जैसे भूत से डरना।

तो हम यह तो समझ गए कि डर कितने प्रकार के होते है और हम डरते क्यों है। पर हमें यह भी जान लेना चाहिए कि हम अपने डर को कम कैसे (dar ko kam kaise kare) करे या फिर हम अपने डर को ख़त्म कैसे कर सकते है।

आज तक जो भी इंसान सफल हुआ है तो उसने सबसे पहले अपने डर को ख़त्म किया है।

Advertisements
Loading...

यह भी जानें: चतुर और चालाक कैसे बने

उस काम को बार-बार करें जिससे डर लगता हो

अपने डर को काम करने के लिए आप उस काम को बार-बार करे जिस काम को करने में आपको डर लगता है।

बार-बार उस काम को करने से आपका डर खुद ही समय के साथ कम हो जाएगा। कुछ समय के बाद ही आपका डर उस काम को करने के लिए ख़त्म भी हो जाएगा।

जैसे अगर आपको मंच पर बोलने में डर लगता है तो आप बार-बार मंच पर बोले। कुछ समय के बाद ही आपका डर एक दम ख़त्म हो जाएगा।

किसी काम को बार-बार करने से उसका डर तो ख़त्म होता ही है, उसके साथ ही वह काम आसान भी हो जाता है।

यह भी जानें: मन को शांत करने के उपाय

अतीत को भूल जाए

अपने डर को कम करने के लिए आप अपने अतीत को भूल जाए। अतीत में आपको किसने क्या कहा था? या फिर आप ने क्या किया था?

वह सब कुछ भूल कर आप आने वाले कल के बारे में सोचे और कल को बेहतर बनाने के लिए काम करे।

हम इंसान अपनी अतीत की बाते याद करके डरते रहते है। जैसे अतीत में मैंने पढ़ाई नहीं कि तो आज मैं फिर पढ़ाई नहीं कर सकता हूँ।

या फिर अतीत में किसी से दिया हुआ वादा जो पूरा नहीं कर पाया तो आज फिर से वादा पूरा नहीं हो सकता है।

Advertisements
Loading...

अतीत से बस सीख ले न की उसको अपने साथ रखे और अतीत को ही सब कुछ न मान ले।

अतीत में जो भी हुआ है उसमे से अपनी कमी को निकाले और उसको सही करें। आपका डर खुद की कम होना शुरू हो जाएगा।

डर के कारण को जानें

डर का कारण भी आपको मदद कर सकता है आपके डर को कम करने में। डर का कारण हमारे माता-पिता हो सकते है या फिर हमारे दोस्त-रिश्तेदार हो सकते है।

इसके साथ ही डर का कारण कोई घटना भी हो सकती है। जैसे अगर किसी को बचपन से ही किसी काम को करने से रोकने के लिए डराया जाता था तो बड़ा हो कर भी उस काम से डर सकता है।

जैसे बच्चों को भूत से डराया जाता है, फिर बड़े हो कर भी वह भूत से डरते है।

वही अगर किसी के साथ बाइक से कोई दुर्घटना हो जाता है तो वह बाइक से डरने लगता है।

ऐसे में इन्हे अपनी डर को कम करने के लिए इन्हे अपने डर का कारण जाना होगा और फिर उसके ऊपर काम करना होगा।

यह भी जानें: कोई इंसान बुरा क्यों होता है

क्या आपका डर सही है

यह सवाल आप खुद से करें कि आप जिस चीज या काम को करने से डरते है। वह सही है।

जब आप खुद से सवाल करेंगे तो आपको खुद ही जवाब मिलेगा कि आप जिस चीज या काम को करने से डरते है वह सही है या फिर नहीं।

Advertisements
Loading...

जैसे अगर कोई भूत से डरता है तो उसका डर बिलकुल ही बेकार है। वही अगर कोई ऐसे काम से डरता है जो काम उसके लिए ख़राब है तो यह डर सही है।

तो आप खुद से सवाल करें कि आप जिस चीज या काम से डर रहे है वह सही है या फिर नहीं।

यह भी जानें: कम बोलने का फायदा

जानकारी को बढ़ाये

जानकारी की कमी भी डरने का कारण बनती है। जैसे अगर किसी को अपना बिज़नेस शुरू करना है।

अगर उसको अपना बिज़नेस शुरू करने में डर लगता है तो इसका कारण है जानकारी की कमी।

जिस इंसान के पास बिज़नेस शुरू करने की जानकारी होगी वह कभी भी नहीं डरेगा। ठीक इसी प्रकार पढ़ाई करने में अगर डर लगता है तो इसका कारण कम जानकारी है कि पढ़ाई कैसे करें।

तो आप अपने डर को दूर करने के लिए आप अपनी जानकारी को बढ़ाये। आपकी जानकारी आपके डर को ख़त्म कर देगी।

अपना आत्मविश्वास बढ़ाये

इस दुनिया में अगर कोई आपके डर को कम या ख़त्म कर सकता है तो वह आप खुद ही है। आप ही वह इंसान है जो अपने अंदर के डर को ख़त्म कर सकते है।

दुनिया में कोई भी ऐसा नहीं है जो आपके डर को ख़त्म कर सकता है। अपने डर को कम करने में आपको अपने आत्मविश्वास बढ़ा कर रखना चाहिए।

आप अपने आत्मविश्वास को बढ़ा कर रखे। आप अपने आत्मविश्वास के दम पर कुछ ही समय में अपने डर को दूर कर सकते है।

Advertisements
Loading...

यह भी जानें: आत्मविश्वास बढ़ाने का तरीका

अंत में

यहाँ पर हमें जाना कि हम अपने डर कैसे कम (how to overcome fear in hindi) कर सकते है। हमें यह भी जाना कि हमें क्यों डर लगता है और डर कितने प्रकार के होते है। डर को ख़त्म करने के लिए हमें अपने अतीत को भूल कर नई शुरुआत करनी चाहिए।

Previous articleमार्केटिंग क्या होती है हिंदी में Marketing in Hindi
Next articleनकारात्मक सोच को कैसे दूर करे | overcome negative thinking in hindi
आपका tvhindinews.com पर स्वागत है। हमें success rules, tips और जीवन से जुडी बातें लिखना पसंद है। हम आपके साथ अच्छा से अच्छा ज्ञान share करते है। Email ID: [email protected]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here