Home lifestyle Meditation कैसे करे? meditation का फायदा और नुकसान हिंदी में

Meditation कैसे करे? meditation का फायदा और नुकसान हिंदी में

0

मेडिटेशन एक ऐसा उपाय है जो हमारे जीवन को सरल और बेहतर बनाने में हमारी बहुत ही ज्यादा मदद करता है। यह न केवल हमारी मानसिक शक्ति को बनाए रखता है बल्कि यह हमारे जीवन के उद्देश्य को भी हमें बतलाता है। चलिए अभी Meditation Kaise Kare उसके ऊपर बात करते हैं।

मेडिटेशन का हमारे मानसिक बुद्धि को बनाये रखने में बहुत भी बड़ा योगदान रहता है। परंतु हम में से ऐसे बहुत से लोग हैं। जिनको मेडिटेशन के बारे में पता नहीं होता है कि Meditation kaise kare मेडिटेशन क्या है?, मेडिटेशन को कैसे करते हैं?, मेडिटेशन के फायदे क्या है? और मेडिटेशन के नुकसान क्या है?

इससे बहुत से लोग ज्यादा वंचित रह जाते हैं। मेडिटेशन से रूबरू कराने के लिए आज का यह आर्टिकल है। अगर आप मेडिटेशन के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं। तो इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

आज के समय में हर व्यक्ति मानसिक रूप से अपने आप में ही परेशान है। यही दुर्दशा उसके जीवन में अशांति लाने का सबसे बड़ा कारण बनती जा रही है। इसी कारण से लोग अपने जीवन में असफलता की ओर बढ़ते जा रहे हैं क्योंकि उन्हें ऐसा लगता है कि सफलता का मतलब सिर्फ अपनी इच्छाओं की पूरा करना है।

परंतु इंसान की लालसा कभी खत्म नहीं होती है। हर एक इच्छा खत्म हो जाने के बाद दूसरी नई इच्छा जन्म ले लेती है। और वह व्यक्ति उस इच्छा को प्राप्त करने में लग जाता है।

इसी तरह अपनी इसी एक-एक इच्छा को पूरा करने में उस व्यक्ति का पूरा जीवन चलता रहता है। इस तरह से बहुत से लोग यह नहीं समझ पा रहे हैं कि असली जीवन का उद्देश्य क्या है और उन्हें अपने जीवन में क्या करना चाहिए।

धरती पर हर एक इंसान के जीवन का उद्देश्य अलग अलग होता है और हर एक इंसान अपना खुद का जीवन का उद्देश्य चुनता है। लेकिन वही इंसान यह नहीं समझ पाता कि उसके जीवन का उद्देश्य क्या है।

इसी कारण से हर व्यक्ति अपनी इच्छा को ही अपने जीवन का लक्ष्य या उद्देश्य मान लेता है। इसीलिए मेडिटेशन ही एक ऐसा उपाय है। जिससे आप अपनी इच्छाओं को नियंत्रित कर सकते हैं और अपने मन को शांत करके अपने जीवन के असली उद्देश्य के पास लेकर जा सकते हैं।

तो चलिए आइए हम लोग जानते हैं कि Meditation kaise kare मेडिटेशन क्या है?, मेडिटेशन कैसे करते हैं?, मेडिटेशन के लाभ क्या है? और मेडिटेशन से क्या नुकसान हो सकते हैं? इसके बारे में हम संपूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे तो चलिए शुरू करते हैं।

यह भी जरूर जाने: चिंता मुक्त रहने के उपाय

मेडिटेशन क्या है / Meditation Kaise Kare

what-is-meditation-hindi

Meditation (Meditation kaise kare) का अर्थ हर एक व्यक्ति के लिए अलग अलग हो सकता है। परंतु मेडिटेशन को हम लोग हिंदी भाषा में ध्यान कहते हैं। बहुत से लोगों के अनुसार इसकी परिभाषा अलग-अलग बताई जाती है पर अगर हम सरल भाषा में आपको बताए तो Meditation एक ऐसी क्रिया है जो हमारे विचलित मन को नियंत्रित रखना सिखाता है और साथ ही साथ हर एक इंसान के अंदर अद्भुत शक्तियों को पहचानने में उस व्यक्ति की सहायता करता है।

हर व्यक्ति के अंदर एक अलग कुछ असीम शक्तियां होती हैं। जो की उस व्यक्ति की पूरी जिंदगी के पहलू को बदल कर रख सकती है। लेकिन इस परिवारिक जिंदगी की भाग दौड़ में इस तरफ खो जाते हैं कि वो खुद ही नहीं समझ पाते कि उनके जीवन का असली उद्देश्य क्या है?

मेडिटेशन ठीक उसी तरह से हमारे शरीर में काम करता है। जैसे कि हम लोग रात में सोने के बाद और सुबह उठकर एक जोश भरा हुआ महसूस करते हैं। परंतु इससे आप यह मत समझिएगा की मेडिटेशन का अर्थ सोना ही है।

बल्कि एक ऐसी स्थिति जो हमारे शरीर के अंदर एक अलग ही प्रकार की ऊर्जा जागृत होते हुए और दिमाग में चलने वाले विचारों को शांत कर देती है इस रूप में हम लोग मेडिटेशन कह सकते हैं क्योंकि मेडिटेशन से हम उन बीमारियों का उपचार कर सकते हैं। जिनका इलाज अभी तक संभव भी नहीं हुआ है।

हम आपकी जानकारी के लिए यह भी बता दें कि मेडिटेशन शुरुआत के दिनों में करना बहुत ज्यादा मुश्किल होता है क्योंकि यह एक ऐसी प्रक्रिया होती है जिसमें कि आपको प्रतिदिन व्यायाम करने की जरूरत पड़ती है।

मेडिटेशन करने से हमें अनगिनत लाभ प्राप्त होते हैं और हमारे शरीर के अंदर एक नई ऊर्जा का विकास होता है। पर क्या दोस्तों आपको पता है कि मेडिटेशन कैसे करते हैं। तो चलिए आइए हम आपको बताते हैं कि मेडिटेशन कैसे करते हैं।

यह भी जरूर जाने: comfort zone को कैसे छोड़ सकते है?

मेडिटेशन कैसे करते हैं?

मेडिटेशन आप कहीं भी और कभी भी कर सकते हैं। बस इसको करने के लिए आपको शांत वातावरण और एकांतवास होना बहुत ही ज्यादा जरूरी है। क्योंकि मेडिटेशन को करने के लिए एकांत अवस्था में ध्यान मुद्रा/ अवस्था में आपको बैठना होता है। बहुत से लोगों द्वारा यह कहा जाता है कि सुबह 5:00 बजे से लेकर शाम 5:00 बजे तक का समय मेडिटेशन करने के लिए सर्वश्रेष्ठ है।

अगर आप भी इस समय में मेडिटेशन करते हैं तो आपकी मानसिक और उत्कृष्ट बुद्धि का विकास होना संभव है। इस समय में आपको ध्यान मुद्रा/अवस्था में मेडिटेशन करने में बहुत ज्यादा मदद मिल सकती है। अगर आप चाहे तो मेडिटेशन करने के बहुत सारे अलग-अलग तरीके हैं।

लेकिन सभी मेडिटेशन को करने का एक ही उद्देश्य है कि हर इंसान को उसके वास्तविक रूप से अवगत कराना है और उस व्यक्ति के मन को शांति प्रदान करना है। तो चलिए अब हम लोग मेडिटेशन के कुछ प्रकार के बारे में जान लेते है।

मेडिटेशन का प्रकार

  • -Transcendental Meditation
  • -Heart Rhythm Meditation
  • -Kundalini
  • -Guided Meditation
  • -Yoga Meditation
  • -Vipassana Meditation
  • -Mindfulness

मेडिटेशन करने के बहुत सारे तरीके और जो सबसे आसान और सरल तरीका है वह है अपनी रीड की हड्डी यानी कि कमर को सीधे रखें और साथ ही अपने गर्दन को भी सीधा रखकर किसी शांत वातावरण में आप किसी भी मुद्रा/ अवस्था को ग्रहण कर जैसे कि बैठकर, लेटकर, सोकर और आप अपनी सुविधा अनुसार मेडिटेशन कर सकते हैं।

जैसा कि हमने आपको ऊपर ही यह बताया है कि मेडिटेशन करना शुरुआत के दिनों में मुश्किल होता है। लेकिन आप मेडिटेशन का बार-बार अभ्यास करके आप मेडिटेशन करना या ध्यान लगाना सीख जाते हैं इसलिए आपको शुरुआत के दिनों में 2 से 3 मिनट तक का ही मेडिटेशन अभ्यास करें। फिर आप धीरे-धीरे मेडिटेशन करने का समय भी बढ़ाकर अभी मेडिटेशन करने की क्षमता को बढ़ा सकते हैं।

मेडिटेशन करते वक्त आपको अपने दिमाग के अंदर आने वाले विचारों को शून्यात्मक तरफ लेकर जाना है और अपने सांसों की गहराइयों में आपको ढलते जाना है और हां हम आपकी जानकारी के लिए यह भी बता दें कि आंखें बंद करने के बाद आप अंदर ही अंदर कुछ देखने की कोशिश ना करें नहीं तो इस स्थिति में आप के सर में दर्द भी उत्पन्न हो सकता है।

बल्कि आपको इसके विपरीत आंखें बंद करने के बाद सिर्फ और सिर्फ अपने दिमाग में आपको इस पूरी सृष्टि के सभी दृष्टि और विचारों को शून्यात्मक अवस्था की ओर ले कर जाना है क्योंकि विज्ञान में भी ऐसा कहा गया है कि हमारा दिमाग सिर्फ उन्हीं चित्रों की कल्पना कर सकता है।

जो हमने कभी ना कभी कहीं ना कहीं तो देखी हो। इसलिए आपको मेडिटेशन करते वक्त दुनिया के सभी विचार को शून्यात्मक अवस्था पर लेकर जाना है। ताकि इसे आपको अपने अंदर की वास्तविकता को पहचान सके।

यह भी जरूर जाने: नकारात्मक सोच को कैसे दूर करे

Meditation और ध्यान के लिए ज़रूरी सुजाव

मेडिटेशन करने के लिए कुछ ऐसे टिप्स होते हैं। जिनकी मदद से आप मेडिटेशन करने की मूलभूत इकाई को जान सकते हैं। तो चलिए उन पॉइंट को हम लोग आपके सामने प्रस्तुत करते हैं।

मेडिटेशन करने के लिए हमें सबसे ज्यादा शांत वातावरण स्थान को चुनना बहुत ही ज्यादा जरूरी है क्योंकि बाहरी आवाजों से हम अपने ध्यान से भ्रमित हो सकते हैं।

मेडिटेशन करने का सबसे सही समय सुबह का समय माना जाता है क्योंकि उस समय किसी भी प्रकार का कोई बाहरी आवाज नहीं होता है और सुबह का वातावरण बहुत ही शांत होता है।

मेडिटेशन करने के लिए आप अपनी ऐसी अवस्था को चुन सकते हैं जिसमें आप बिना भ्रमित हुए लंबे समय तक टिके रह सकते हैं।

मेडिटेशन करने से पहले आप भोजन ना करें ऐसा करने से मेडिटेशन करते वक्त आपको नींद आने लगती है और ना ही खाली पेट मेडिटेशन करें क्योंकि इसे मेडिटेशन करते वक्त आपके मन में खाने के विचार उत्पन्न होते रहेंगे। इसी कारण से आपको खाना खाने के 1 से 2 घंटे बाद ही मेडिटेशन करें।

कहते हैं कि मुस्कान हर जख्म की दवा होती है ठीक उसी प्रकार मेडिटेशन करते वक्त हमें अपने चेहरे पर हल्की सी स्माइल रखनी बहुत ही ज्यादा जरूरी होती है।

मेडिटेशन करते समय हम लोगों को लंबी और गहरी सांस लेना जरूरी है क्योंकि इससे हमारे अंदर की मांसपेशियां हमेशा शांत रहती हैं।

यह भी जरूर जाने: आलस को कैसे दूर करें?

Meditation करने के फायदें

जैसा कि हमने आपको ऊपर ही बताया है कि मेडिटेशन करने की अनगिनत फायदे होते हैं पर क्या दोस्तों आपको पता है कि वह लाभ कौन-कौन से हैं अगर नहीं तो चलिए हम आपके सामने कुछ लाभ को प्रस्तुत करते हैं।

1. मेडिटेशन करने से हमारे मस्तिष्क यानी कि दिमाग को बहुत ही ज्यादा शक्ति मिलती है।

2. मेडिटेशन करने से हमारे सोचने की क्षमता बहुत ही ज्यादा बढ़ जाती है।

3. मेडिटेशन करने से हम अपने मानसिक एकाग्रता में वृद्धि करते हैं।

4. मेडिटेशन करने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि मेडिटेशन हमारे मानसिक और शारीरिक रूप को बहुत ज्यादा विकसित करता है।

5. प्रतिदिन मेडिटेशन करने से आपका मन बहुत ही ज्यादा शांत रहता है।

6. मेडिटेशन लगातार करने से हमारे सिर दर्द, नींद ना आना ,चिंतित रहना इन सभी स्थितियों से हमें बहुत ही ज्यादा राहत पहुंचाता है।

7. प्रतिदिन मेडिटेशन करने से हमारे अंदर एक अलग ही प्रकार की ऊर्जा का विस्तार होता है।

8. मेडिटेशन करने से हम अपने जीवन हर एक पल का आनंद ले सकते हैं।

9. प्रतिदिन मेडिटेशन करने से आप अपने दिमाग और अपनी इच्छाओं पर काबू पा सकते हैं।

10. मेडिटेशन करने से आप अपने जीवन के लक्ष्य को निखार सकते हैं।

11. प्रतिदिन मेडिटेशन करने से आपके अंदर एक अलग ही प्रकार की खुशी उत्पन्न होने लगती है।

12. लगातार मेडिटेशन करने से आपके अंदर धैर्य रखने की क्षमता बढ़ती जाती है।

13. मेडिटेशन करने से आपके अंदर का आत्मविश्वास बढ़ता है।

14. प्रतिदिन स्टेशन करने से आपका शरीर स्वस्थ रहता है।

मेडिटेशन क्या है?, मेडिटेशन कैसे करते हैं? और मेडिटेशन की क्या-क्या फायदे हैं? अधिकतर लोग इससे अनजान होते हैं। लेकिन बहुत से गुरुजनों का यह मानना है कि मेडिटेशन मनुष्य के लिए एक स्वाभाविक वरदान दिया गया है यानी कि मेडिटेशन करने से हमारे जीवन में लगातार सुधार देखने को मिलता है। तो चलिए अब हम लोग मेडिटेशन करने के कुछ नुकसान को भी जान लेते हैं।

मेडिटेशन करने के कुछ नुकसान

मेडिटेशन करने की नुकसान बहुत ही कम होते हैं क्योंकि गलत तरीके से मेडिटेशन करने से हमें नुकसान होता है। तो चलिए हम उन तरीको को जानते है जिनसे हम देखेंगे कि हमें नुकसान हो सकते हैं।

1- संपूर्ण ध्यान योगी बनने का प्रयास ना करें-

जब आप मेडिटेशन का अभ्यास करते हैं तो आपको अपने मन को स्थिर और शांत रखना चाहिए और कभी योगी बनने का प्रयास कभी भी नहीं करना चाहिए। इससे आप अपने मेडिटेशन के ध्यान की गहराइयों को महसूस कर पाएंगे और इसके साथ ही अपने गुस्से को काबू में भी रख पाएंगे।

2- अपने विचारों का सामना करें-

मेडिटेशन करते वक्त आपको अपने मन के विचारों को हमेशा शांत रखना बहुत ही ज्यादा जरूरी है। जब हम लोग मेडिटेशन करने का प्रयत्न करते हैं। तो हमें अपने विचारों का सामना करना बहुत ज्यादा जरूरी है क्योंकि मेडिटेशन करते वक्त हमें अपने अंदर क्रोध को खत्म करना होता है।

3- ध्यान क्रिया को चिकित्सा ना समझे-

मेडिटेशन करते समय आप कभी भी अपने ध्यान की मुद्रा को अपना उपचार ना समझे हां हालांकि यह माना जाता है कि स्टेशन एक चिकित्सा का रूप होता है पर इसे चिकित्सा मानना हमारी सबसे बड़ी गलती हो सकती है।

यह भी जरूर जाने: life को enjoy कैसे कर सकते है?

निष्कर्ष : Meditation kaise kare

तो दोस्तों हमें आशा है कि यह आर्टिकल आपको जरूर पसंद आया होगा। इस आर्टिकल में हमने आपको मेडिटेशन / Meditation से जुड़े कुछ सवाल जैसे कि मेडिटेशन क्या है?, मेडिटेशन कैसे करते हैं?, मेडिटेशन के फायदे क्या है?, मेडिटेशन के नुकसान क्या है? और भी उससे जुड़े कुछ सवाल और जवाब हमने आपको आज की इस आर्टिकल में दिया है।

तो दोस्तों हमें उम्मीद है कि आपको यह बहुत ही ज्यादा पसंद आया होगा और यदि आपने इस पोस्ट को पूरा पढ़ा है इसके लिए बहुत ही धन्यवाद।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version