आम की खेती के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी जो आम की खेती में काफी मदद करेगी

0
Advertisement

mango farming का हिंदी मलतब आम की खेती करना होता है। आम जो देखने और खाने में काफी रसीला होता है। भारत में इसे सभी फलो का राजा भी कहा जाता है। आम का फल साल में एक बार होता है। भारत में आम को खाने और पसंद करने वाले काफी लोग है। आम में Vitamin A और Vitamin C काफी मात्रा में पाया जाता है।

वैसे तो आम के बगीचे भारत के गाँव में काफी देखने को मिलते। पर अगर आप भी आम की खेती (aam ki kheti) करने वाले है तो हम आपको आम की खेती(mango farming) के बारे में कुछ अहम जानकारी देने वाले है। जिससे आपको आम की खेती(mango farming) में काफी फायदा देखने को मिलेगा।

यह भी पढ़ें: भारत में किसान के लिए तरबूज की खेती की जानकारी

आम की खेती के फायदे

aam ki kheti
aam ki kheti

तो पहले हम आपको आम की खेती(mango farming) फायदे बता दे जिससे आपको यह पता चले की आम की खेती कितनी फायदे मंद है और आपको करना चाहिए या नहीं।

बाजार में बेचना

हम आपको बता दे कि आम को पसंद करने वाले और खाने वाले काफी लोग है। ऐसे में अगर आप आम की खेती करेंगे तो आपको आम की मार्केटिंग करने की जरूरत नहीं होगी। आप बड़ी आसानी से आम को बाजार में बेच पाएगे। हम आपको बता दे कि भारत पूरे दुनिया के आम उत्पाद में से 40%आम उत्पाद करता है।

देख-भाल काफी आसान

आम का पेड़ ऐसा होता है जो परिथिति के हिसाब से खुद को बदल लेता है। इसके कारण जो भी आम की खेती(mango farming) करते है उन्हें दूसरे फलो की खेती से काफी कम मेहतन करनी होती है। आम काफी स्वस्थ पेड़ों में से एक होता है। इसमें जल्द कोई बीमारी नहीं लगाती है। आम की ज्यादा देखभाल करने की पूरे साल जरूरत भी नहीं होती है। जब आम के फल लेने का समय आता है तो उस समय थोड़ी बहुत देखा भाल करना होता है।

जल्द पैसा भी

काफी फल के पेड़ ऐसे होते है उन्हें बड़े होने में काफी समय लग जाता है। जब आम के पेड़ को बड़े होने में काफी कम समय लगता है। इसके साथ ही साथ आम का फल कच्चा भी बिकता है। इससे अगर आपको जल्द पैसा नहीं मिल सकता है। हम आपको बता दे कि हम के भी कई नस्ल होते है जिन्हे बड़े होने में काफी समय भी लग जाता है।

आम की खेती कैसे शुरू करें?

नस्ल को चुने

जो सबसे पहला और मुख्य कदम आम की खेती(aam ki kheti) का माना जाता है वह यह की एक अच्छा आम का नस्ल चुनना। वैसे बाजार में आम के काफी नस्ल मिलते है। इसका को मुख्य कारण है वह यह कि आम को काफी चीज़ में प्रयोग किया जाता है। इससे साथ ही साथ कुछ आम काफी मीठी तो कुछ कम मीठी भी होती है। तो आप आम की नस्ल चुनने से पहले आप यह जरूर जान ले कि आपको किस तरह का आम की खेती (aam ki kheti) करना है।

जमीन

आम की खेती(aam ki kheti) के लिए आपको जो दूसरी जरूरत होगी वह जमीन की। हम के पेड़ लगाने के लिए जमीन जरूरत होती है। आम का पेड़ ज्यादा तर जमीन में काफी अच्छे से फलता-फूलता है। हम आपको बता दे कि अगर आप उस जगह में आम की खेती करते है जहा काफी आंधी और तूफान आते है तो आपको काफी घाटा हो सकता है। ऐसा हम इसलिए कह रहे क्योंकि आम के पेड़ काफी बड़े होने के साथ ही लम्बे समय के लिए होते है। इसके अलावा आम के काफी डाली कम जोर भी होती है जो थोड़ी से आंधी तूफान में टूट जाती है। इसके अलावा ज्यादा आंधी और तूफान होने पर पूरा पेड़ भी टूट सकता है।

जलवायु

आम उन फलों में से एक है जो काफी तरह के जलवायु में काफी आराम से बढ़ते और फलते-फूलते है। हम आपको बता दे कि आम कही पर किसी भी जलवायु में हो सकता है जहा पर इंसान आराम से रहते है। आम का पेड़ जब फल लेने वाला होता है तो उसे काफी वर्षा की जरूत होती है। यह समय जून से अक्टूबर तक होता है।

Advertisement

यह भी पढ़ें: घर पर खाद कैसे बनाये 

Previous articleबटेर पालन के बारे में कुछ विशेष जानकरी जो आपको जाना काफी जरुरी है अगर आप भी बटेर पालन करने वाले है
Next articleमिर्ची के खेती से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण जानकारी
My name is sakina. I am an SEO expert, social media marketer, as well as a content writer. the writing content is my hobby. I like to write content in Hindi. I know one thing is content is king.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here