Baat Karne Ka Tarika – बात करने का तरीका हिंदी में Way to talk in hindi

0

Baat Karne Ka Tarika हम जब भी किसी व्यक्ति से मिलते है तो हमें सबसे पहले उसने बात करना होता हैं। काफी लोगो को समझ नहीं आता है कि वे अपनी बात की शुरुआत कैसे कर सकते है।

हम दूसरे लोग से बात करने में काफी डरते है। इन सब का एक ही कारण होता है बात करने ना आना। हम इस पोस्ट में जानेगे की किसी व्यक्ति से बात कैसे किया जाता है।

बात करना किसी इंसान के लिए बहुत ही मुश्किल काम नहीं होता है। हम बचपन से ही किसी से बात करना सीखते आ रहे है। लेकिन फिर भी हम किसी से बात करने से डरते है।

कुछ लोग ऐसे भी होते है, जो किसी से कभी भी बड़े आराम से बात कर लेते है। इन लोगो को बात करने की टिप्स पता होती है। जिसकी मदद से यह अच्छे से बात कर लेते है।

यह भी पढ़े: सफल लोगो आदत हिंदी में

बात करने के तरीके Ways to talk in hindi

baat karne ka tarika in hindi
baat karne ka tarika in hindi

किसी से बात करना मुश्किल नहीं होता है, मुश्किल होता है बात को शुरू करना। बात शुरू करने में ही मुश्किल होता है।

जब एक बार किसी के साथ बात शुरू हो जाता है तो उसके बाद बात को आगे बढ़ाना आसान हो जाता है। इस बात को अच्छे से याद रखे।

बात करते समय धीरे बोले

किसी से अच्छे से बात करना है तो जब भी बात करें धीरे आवाज में बोलने की कोशिश करे। इतना भी धीरे ना बोले की सामने वाले को सुनाई ही ना दे।

लेकिन काफी तेज आवाज में भी ना बोले। धीरे बोलने से साफ आवाज निकलती है। इसके साथ ही सामने वाले को जो आपकी बात को सुन रहा होता है उसको काफी अच्छा लगता है। धीरे बोलने से हर बात दूसरे के मन तक पहुँचता है।

गले से बात बोले

अच्छी बात करने का यह भी एक तरीका है कि बात को गले से बोले। दूसरे शब्दो में जब भी किसी दूसरे व्यक्ति से बात करे तो आवाज को गले से निकाले ना की नाक से

काफी बार ऐसा देखा जाता है कि लोग बात करते समय नाक से आवाज निकालते है। यह उनकी आदत बन चुकी होती है।

लेकिन नाक से आवाज निकाल कर बात करने से वह बात दूसरे व्यक्ति को समझ नहीं आता है। इसके साथ ही नाक की आवाज से दूसरे को गुस्सा भी आता है।

जिसके कारण अच्छे से बात नहीं हो पाता है। अच्छे तरीके से बात करने के लिए गले से आवाज निकाले ना की नाक से आवाज निकाल कर बात करे।

मीठे शब्दों का चयन करे

बात करते समय शब्दों का एक अलग ही महत्व देखने को मिलता है। जब हम किसी दूसरे से बात करते है तो हम शब्दों के सहारे ही बात करते है।

ऐसे में काफी ज्यादा अहमियत शब्दों का बात करने में देखा जाता है। कुछ शब्द ऐसे भी होते है जो सामने वाले को अच्छे लग सकते है, तो कुछ शब्द ऐसे भी होते है जो सामने वाले को बुरा महसूस करा सकते है।

ऐसे में बात करते समय सही शब्द का चयन करना ही बात करने का अच्छा तरीका होता है।

उदाहरण के साथ बात कहे

अच्छे से बात करने का तरीका यह होता है कि बात करते समय किसी अच्छे उदाहरण के साथ अपनी बात को कहा जाए। ऐसा करने से दूसरे काफी ध्यान के साथ हमारी बात को सुनते है।

बात करते समय उदाहरण का इस्तेमाल करने से दूसरे समझ पाते है कि हम जो कुछ भी कह रहे है वह सच है और इसका उदाहरण भी मौजूद है।

इस तरह से बात करने का उदाहरण आपको हर कामयाब व्यक्ति में देखने को मिल सकता है।

यह भी पढ़े: नए दोस्त कैसे बनाएं

दूसरे को बोलने का मौका भी देना

किसी से बात करने का यह मतलब नहीं होता है कि बस हम ही बोले। दूसरे को भी बोलने का मौका देना भी बात को करने का अच्छा तरीका होता है।

अच्छे तरीके से बात करने के लिए दूसरे को भी बोलने का मौका देना होता है। जब हमारी बात ख़त्म हो जाए तब दूसरे को बोलने को कहना ताकि दूसरे भी बोल सके।

कभी-कभी ऐसा भी होता है कि जब हम बोल रहे होते है तभी दूसरे जिससे हम बात कर रहे है वह भी कुछ बोलना चाहते है।

ऐसे समय में हमें शांत हो जाना चाहिए और सामने वाले को बोलने को कहना चाहिए।

बोलने में गलती होने पर तुरंत Sorry बोले

जब हम किसी दूसरे से बात कर रहे होते है तब हमसे कुछ गलत शब्द भी बाहर निकल जाते है। या तो फिर हम किसी विषय व वस्तु के बारे में बुरा बोल देते है।

ऐसे समय में हमें तुरंत Sorry बोलना चाहिए। चाहे हम बड़े व्यक्ति से बात कर रहे हो या फिर किसी छोटे व्यक्ति से

अगर बोलने में कोई गलती हो गई हो तो हमें तुरंत ही माफ़ी मांग लेना चाहिए। माफ़ी मांगने से हम अपने शिष्टाचार को दिखाते है।

बात करते समय सामने वाले के आखो से सम्पर्क बनाये रखना

जब भी किसी व्यक्ति से बात कर रहे हो तो दूसरे व्यक्ति की आखो से संपर्क बनाये रखना जरूरी होता है।

आखो में संपर्क बनाये रखने से दूसरे हमारी बात को ध्यान के साथ सुनते है। दूसरो को हमारी आँखों में सच्चाई दिख जाती है और हम दूसरो के बारे में भी जान लेते है।

आँखों से संपर्क बनाकर बात करने से हमारा confidence भी नजर आता है। हम सामने वाले को दिखा पाते है कि हम कितने confidence है।

कभी ऐसा भी होता है जब हमें एक साथ काफी लोगो के साथ बात करना होता है। ऐसे में एक-एक व्यक्ति से आखो का संपर्क बनाते रहे।

चेहरे पर मुस्कान बनाये रखना

अच्छे से बात करने के लिए बात करते समय चेहरे पर मुस्कान बनाये रखना जरूरी होता है। जब भी किसी से बात करे तो अपने चेहरे पर मुस्कान बनाये रखे।

बात करते समय ज्यादा हँसना भी अच्छा नहीं होता है। धीमा हँसना भी काफी होती है।

यह भी पढ़े: खुश रहने का फायदा

निष्कर्ष:Baat Karne Ka Tarika

दोस्तों आज हमने आपको एक बहुत ही मजेदार टॉपिक के बारे में बताया है। जिसका नाम बात करने का तरीका है दोस्तों किसी व्यक्ति से बात करने के लिए हमे बात करने का तरीका आना चाहिए। अगर हम किसी व्यक्ति से अच्छे से बात नहीं करते तो हमारी बात बिगड़ जाती है और हमारा काम अधूरा रह जाता है। तो दोस्तों हमे उम्मीद है की आपको यह टॉपिक पढ़कर किसी से बात करने का तरीका आ गया होगा। दोस्तों ऐसी ही मजेदार और ज्ञानवर्धक जानकारी को पढ़ने तथा सीखने के लिए हमारे साथ हमारे हर टॉपिक पर बने रहिये। धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here