Startup कैसे शुरू करें? स्टार्टअप शुरू करने की पूरी जानकारी

1

आज के समय पूरे देश में Startup शब्द को सुनने को मिल रहा है। आए दिन टीवी और अखबार में भी Startup की खबरे ही छपी होती है। Startup के बारे में इतना सुनने के बाद बहुत से लोगो के मन में Startup को शुरू करने का भी विचार आता है लेकिन बहुत ही कम लोगो को यह पता होता है कि Startup कैसे शुरू करे या Startup कैसे शुरू किया जाता है। यदि आपको Startup शुरू करना है और आप Startup शुरू करने के प्रॉसेस को समझना चाहते है तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पर है। इस पोस्ट में हम Startup को शुरू करने के बारे में ही बताने वाले है। तो चलिए बिना किसी देरी को इस पोस्ट को शुरू करते है।

यह भी जाने: Digital marketing agency कैसे शुरू करे

Startup क्या होता है

सबसे पहला सवाल कि Startup क्या होता है? हम आपको बता दे कि किसी भी कंपनी या बिज़नेस के शुरूआती दिन जब इसको किसी एक व्यक्ति या एक से अधिक व्यक्ति द्वारा शुरू किया जाता है। उस समय या तो बस बिज़नेस आईडिया होता है या फिर सिर्फ टेस्टिंग हुआ होता है, तो उसको Startup कहते है। Startup को शुरू करने वाले को लगता है कि वह जो प्रोडक्ट और सर्विस बना रहा है उसकी डिमांड मार्किट में काफी ज्यादा है। जिसको उसका Startup पूरा कर सकता है। कंपनी के Startup दौर में जितना कंपनी का रेवेनुए होता है उससे ज्यादा उस कंपनी में निवेश की जरूरत होती है। इसी लिए कंपनी के संस्थापक तरह से कंपनी में निवेश लेकर आते है। एक स्टार्टअप में सबसे ज्यादा निवेश venture capitalists से मिलता है।

Startup और business में क्या अंतर होता है?

हम सभी बचपन से बिज़नेस शब्द को तो सुनते हुए आए है। हमें काफी हद तक बिज़नेस के बारे में पता भी है। लेकिन Startup काफी नया शब्द है। Startup और बिज़नेस के अंतर को समझना इसलिए मुश्किल हो जाता है क्योंकि दोनों का काम एक ही होता है। आपको चिंता लेने की कोई जरूरत नहीं है। चलिए हम Startup और Business के बिच का अंतर आपको एक-एक करके बताते है।

BusinessStartup
Business को scale करना मुश्किल होता है।Startup आसानी से scale किया जा सकता है।
Business हमेशा प्रॉफिट में ही होता है।कोई Startup फायदा में होता है तो कोई startup हानि में भी होता है।
बिजनेस को एक व्यक्ति द्वारा चलाया जा सकता है।Startup को चलाने के लिए कई व्यक्ति की जरूरत होती है।
बहुत से बिजनेस को कॉपी किया जा सकता है।बहुत ही कम startup को कॉपी किया जा सकता है।
Business में Investor इन्वेस्ट करने को तैयार नहीं होते है।startup में investor इन्वेस्ट करना पसंद करते है।
बिज़नेस को technology adapt करना मुश्किल होता है।Startup की शुरुआत ही टेक्नोलॉजी के दम पर होती है। दूसरे शब्दों में Startup टेक्नोलॉजी पर आधारित होता है।

Startup आईडिया सोचे

एक स्टार्टअप को शुरू करने के लिए आपको सबसे पहले एक Startup आईडिया सोचना होगा। यदि आपके पास पहले से ही कोई बिज़नेस आइडियाज है तो काफी सही है। यदि आपके पास कोई स्टार्टअप आईडिया नहीं है तो चलिए हम आपको बताते है कि आप कैसे एक बढ़िया Startup आईडिया सोच सकते है।

Startup आईडिया कैसे सोचे

एक अच्छा Startup आईडिया सोचने के लिए सबसे पहले आपको अपने दिमाग को शांत करना होगा। आप दिमाग पर दबाव देकर एक अच्छा बिज़नेस आईडिया कभी नहीं सोचे सकते है। अपने दिमाग को बिलकुल आजाद कर दे। आपका दिमाग जो सोचना चाहता है उसे सोचने दे। बस आप अपने मन में ख्याल रखे की आपको एक अच्छा सा बिज़नेस आईडिया ढूढना है। कुछ देर के बाद आपके दिमाग में खुद ही एक से एक बड़ा Startup आईडिया आना शुरू हो जाएगा। आपके दिमाग में जो भी Startup आईडिया है उसको आप कही लिख ले। इसके बाद आप उस आईडिया पर विचार करे।

Startup आईडिया ढूंढने का एक बहुत ही अच्छा तरीका है। इसमें आपको यह सोचना है कि आपको कब और किस काम से प्रॉब्लम होता है। यदि अभी आपके काम से जुड़ा कोई प्रॉब्लम नहीं है तो बीते हुए समय के बारे में सोचे। अगर आपको तब भी कोई प्रॉब्लम न मिले तो कुछ समय इतजार करे। आपके जीवन में कोई न कोई प्रॉब्लम जरूर आएगा। जिसको आपको हल करना होगा। जब कोई ऐसा प्रॉब्लम आपके सामने आए तो आप विचार करे कि इस तरह का प्रॉब्लम कितने लोगो को आती होगी। अब आप यह भी सोचे कि वह अपना प्रॉब्लम हल कर पाते होंगे या नहीं। यदि बहुत कम लोग ही अपने प्रॉब्लम को हल कर पाते होंगे तो यह प्रॉब्लम आपके लिए फायदे मंद साबित हो सकता है। इस प्रॉब्लम को ख़त्म करने के लिए आप Startup शुरू कर सकते है।

यह भी जाने: सफल बिज़नेस कैसे बनाए?

अपने स्टार्टअप आईडिया को शेयर करे

हमारा आपसे एक सवाल है क्या आप जो कुछ भी सोचते है वह हमेशा सही होता है? ऐसा हम सभी के साथ होता है। हम जो सोचते है वह हमें 100% सही लगता है, पर वास्तव में वह गलत होता है। वही कभी ऐसा भी होता है जो हम सोचते है वह सही होता है। अब आप एक स्टार्टअप को शुरू करने वाले है तो यदि आपका स्टार्टअप आईडिया असफल साबित हुआ तो आपको काफी बुरा लगेगा। इसके साथ ही आपको धन और समय का हानि भी हो सकता है। इस हानि से बचने के लिए आप जब एक स्टार्टअप आईडिया सोच ले तो उसे अपने माता-पिता, भाई बहन, पति या पत्नी, दोस्त आदि के साथ शेयर करे। आपको जिस व्यक्ति पर विश्वास हो उसके साथ शेयर करे। यदि कोई ऐसा है जिसने अपना स्टार्टअप किया हुआ है या उसको स्टार्टअप की जानकारी है तो ऐसे व्यक्ति के साथ जरूर से शेयर करे। अब आपको सामने वाले से जो भी सुझाव मिले उसे दिल से न ले बल्कि उसके बारे में दिमाग से विचार करे। यदि सभी बोले की आपका स्टार्टअप आईडिया काफी अच्छा है तो भी आप ज्यादा खुश न हो। वही सभी बोले की आपका बिज़नेस आईडिया बेकार है तो भी दुखी न हो।

आपके साथ स्टार्टअप में कौन-कौन होगा?

अब एक कदम आगे बढ़ा करके अब आप यह सोचे की आपके स्टार्टअप में कौन-कौन शामिल होगा। इसको पहले से ही सोच लेना बहुत ज्यादा जरूरी होता है। आप जितने भी लोगो को अपने स्टार्टअप में शामिल करना चाहते है उसके नाम लिख ले। उसके बाद यह भी लेखे की वह आपके कंपनी में क्या काम करेंगे और उनकी इस स्टार्टअप में किया जरूरत है। इसके अलावा आप यह भी विचार कर ले की क्या उनका आपके कंपनी में कोई हिस्सा होगा। यदि हाँ तो कितना प्रतिशत होगा। हम आपको ऐसा इसलिए कह रहे है क्योंकि ऐसा बहुत से लोगो के साथ होता है जो अपनी कंपनी में ऐसे लोगो को रख लेते है जो उनके कंपनी के लायक ही नहीं होते है। बाद में उन्हें कंपनी से निकालना भी काफी ज्यादा मुश्किल होता है। इसके अलावा हम कुछ पहचान वाले लोगो को कंपनी का शेयर ऐसे ही दे देते है, लेकिन कुछ समय बाद वही हमारी कंपनी को बंद करने की स्थित पर लेकर आ जाते है।

मार्किट रिसर्च करें

बहुत से लोग जब मार्किट रिसर्च शब्द को सुनते है तो उन्हें लगता है की बाजार में जाकर पूछना है की यह प्रोडक्ट या सर्विस बाजार में बिकेगा की नहीं। लेकिन मार्किट रिसर्च में ऐसा कुछ भी नहीं होता है। चलिए अब हम आपको कम शब्दों में बताते है की आप कैसे मार्किट रिसर्च कर सकते है।

मार्किट रिसर्च कैसे करे?

मार्किट रिसर्च करने की शुरुआत आपके प्रोडक्ट और सर्विस से होती है। आप अपने प्रोडक्ट को जान लिजी। उसके बाद आप यह जानने की आपका प्रोडक्ट की क्षेत्र में आता है। उसके बाद आप उस क्षेत्र से जुडी जानकारी को हासिल करे। उस क्षेत्र से जुडी जानकारी जीतनी हो सके उतनी हासिल करे। मार्किट रिसर्च करने के दूसरे स्टेज में आप वैसे लोगो से मिले जो उस क्षेत्र में काम कर रहे है जिससे जुड़ा आपका प्रोडक्ट है। तीसरे स्टेज में आप उस क्षेत्र को लाइफ को देखे। हर एक प्रोडक्ट, सर्विस या क्षेत्र का एक जीवन काल होता है। एक समय पर उसकी शुरुआत होती है तो एक समय पर वह अपने सबसे ज्यादा सफल स्टेज पर होता है। उसके बाद वह धीरे-धीरे निचे ही आने लगता है। आप जिस भी प्रोडक्ट को लेकर आने वाले यह क्या उसकी अभी शुरुआत है या वह अपने सबसे सफल स्टेज तक पहले से ही पहुंच चूका है। उदाहरण के तौर पर, पेट्रोल और डीज़ल की वाहन का समय अब ख़त्म होने वाला है। पेट्रोल और डीज़ल की वाहन अपने सबसे सफल स्टेज पर जा चूका है। अब वह धीरे-धीरे असफल और बंद होने के कागार पर आ चूका है। कुछ साल बाद कई देशो की सड़को पर कोई भी पेट्रोल और डीज़ल की वाहन देखने को नहीं मिलेगी।

Advertisement

बिजनेस प्लान बनाएं

अब तक आपके दिमाग में जो भी बिज़नेस प्लान चल रहा है उसको कही लिखना शुरू कर दे। ऐसा इसलिए क्योंकि हमारे दिमाग में बिज़नेस प्लान काफी कम समय के लिए होता है। इसके अलावा जो बिज़नेस प्लान हमारे दिमाग में होता है, वह आधा-अधूरा होता है। भले ही वह हमें पूरा लगता है। आपने बिज़नेस प्लान को जितना अच्छे से लिख सकते है उतने अच्छे से लिखे।

यह भी जाने: बिज़नेस प्लान कैसे बनाये

ग्राहक को पहचाने

किस भी स्टार्टअप को सफल बनाने में सबसे ज्यादा योगदान कंपनी के मालिक का नहीं बल्कि ग्राहकों का होता है। ग्राहक ही तय करते है की बिज़नेस सफल होगा या नहीं। अब आपके मन में सवाल आ सकता है कि तो एक स्टार्टअप के मालिक के तौर पर आप कैसे ग्राहक से अपने बिज़नेस को सफल करवा सकते है। चलिए हम यही बताते है कि एक स्टार्टअप के मालिक के तौर पर बिज़नेस को ग्राहक से कैसे सवाल करवाए। इसके लिए आपको ग्राहक को पहचानना होगा। अब फिर से आपके मन में सवाल आ सकता है कि ग्राहक को पहचान के बिज़नेस को कैसे सफल कर सकते है। चलिए हम आपको इसका भी कारण देते है। इस धरती पर अनगिनत लोग है, जो किसी न किसी कंपनी के ग्राहक है। अगर आप अपने प्रोडक्ट और सर्विस को सभी के पास ले जाएंगे तो आपको काफी पैसा खर्च करना होगा। लेकिन आपकीकमाई उतनी नहीं हो पाएगी जितना आप खर्च करेंगे। वही जब आपको अपने ग्राहक के बारे में पता होगा कि आपका ग्राहक कैसे होगा तो आप कम खर्च करके अपने ग्राहक तक पंहुच सकते है और काफी पैसा कमा सकते है।

कंपनी को रेवेनुए कैसे होगा

एक स्टार्टअप को शुरू करने से पहले ही यह भी सोच लेना चाहिए कि कंपनी कैसे पैसा कमाने वाली है। जब तक कोई कंपनी पैसा नहीं कमा सकती है तब तक वह कंपनी सफल ही नहीं सकती है। आपने जिस भी स्टार्टअप आईडिया को सोचा है वह सफल तभी साबित हो सकती है जब उसमे पैसा कमाने का दम हो। वैसे तो हर एक कंपनी रेवेनुए बना ही लेती है लेकिन कुछ ऐसी भी कंपनी भी होती है जो कभी प्रॉफिट में नहीं होती है। साल दर साल वह कंपनी घाटे में ही चल रही होती है। आम इंसान को देखने में लगता है कि वह कंपनी काफी सफल है और काफी प्रॉफिट भी कमा रही है लेकिन ऐसा नहीं होता है। उदाहरण के तौर पर PayTm, PhonePay, आदि।

Startup का प्रोसेस बनाए

क्या आपने कभी कोई लक्ष्य बनाया है? वैसे तो बहुत से लोग कोई न कोई लक्ष्य बनाते ही रहते है और उसके लिए काम भी करते है लेकिन उनका काम बस कुछ दिन ही चल पाता उसके बाद वह उस लक्ष्य को भूल जाते है या आने वाले समय पर टालने लगते है। पर कुछ लोग ऐसे भी होते है जो लक्ष्य को हासिल कर लेते है। ऐसा वह इसलिए कर पाते है क्योंकि वह अपने लक्ष्य को पाने के लिए प्रॉसेस को बनाते है और उस प्रॉसेस को फॉलो करते है। यदि आप स्टार्टअप शुरू कर रहे है तो आपका कोई न कोई लक्ष्य जरूर होगा। उस लक्ष्य को पाने के लिए आपको प्रॉसेस बनाना होगा। कंपनी में बस अकेले आप काम नहीं करेंगे। आपके साथ पूरी टीम होगी। टीम को काम कराने और रिजल्ट हासिल करने प्रॉसेस का होना बहुत जरूरी है। आप स्टार्टअप को शुरू करने से पहले ही प्रॉसेस को बना लेंगे तो यह आपके लिए काफी सही होगा।

Fund का इंतजाम करें

एक स्टार्टअप बस सोचने से शुरू नहीं हो जाती है। स्टार्टअप को शुरू करने के लिए आईडिया होने के साथ फण्ड भी होना चाहिए। अब आपको अपने स्टार्टअप को शुरू करने के लिए फण्ड का इंतजाम करना होगा। अब आपके मन में सवाल आ सकता है कि बिज़नेस के लिए फण्ड कहा से लेकर आए। तो चलिए हम आपको इसका तरीका भी बता देते है।

स्टार्टअप के लिए पैसा कहाँ से लाए

चलिए अब हम आपको स्टार्टअप के लिए पैसा कैसे लेकर आना है यह बताते है। स्टार्टअप के लिए पैसा एकठा करने के तरीके कुछ इस तरह से है।

खुद का पैसा: किसी स्टार्टअप को शुरू करने के लिए सबसे पहले खुद का पैसा लगाना होगा। यदि आपके पास पहले से कुछ पैसा है तो आप उस पैसे को अपने स्टार्टअप में निवेश कर सकते है। हम आपको बता दे की जब आप खुद का पैसा निवेश करेंगे तो ही कोई और आपके बिज़नेस में पैसा निवेश करेंगा।

दोस्तों का पैसा: हम सभी के दोस्त होते हैं। वैसे तो अधिकतर दोस्तों समय पड़ने पर साथ नहीं देते है लेकिन कुछ बहुत करीबी दोस्त भी होते है। जो हमारे बुरे और अच्छे समय पर साथ रहते है। ऐसे दोस्तों से आप अपने स्टार्टअप के लिए पैसा ले सकते है। ऐसे दोस्तों से बस आपको एक बार कहना होगा। यदि उनके पास पैसा है तो वह तुरंत आपके बिज़नेस में निवेश करने के लिए तैयार हो जाएंगे।

रिश्तेदार से पैसा लेना: यह काफी लोगों के लिए मुश्किल काम हो सकता है। जैसे हमारे दोस्त अनगिनत होते है वैसे हमारे रिश्तेदार भी अनगिनत होते है। पर कुछ ही रिश्तेदार हमारे साथ खड़े होते है। यदि आपके दिमाग में कोई ऐसा रिश्तेदार है जो आपके बिज़नेस में निवेश कर सकता है तो एक बार आप उससे बात कर सकते है।

एंजेल इन्वेस्टर: क्या हो अगर आके बिज़नेस में निवेश करने के लिए कोई परी आ जाए तो। ऐसा ही कुछ एंजेल इन्वेस्टर होता है। एंजेल इन्वेस्टर आपके बिज़नेस में ऐसे समय पर पैसे का निवेश करता है जब आपका बिज़नेस बिलकुल नया हो। यदि आपके बस बिज़नेस आईडिया है तो भी एंजेल इन्वेस्टर आपके आईडिया में निवेश करके उसको एक बिज़नेस बना सकता है। हम आपको बता दे कि आपका आईडिया काफी दम दार होना चाहिए इसके साथ ही उससे जुडी जानकारी भी आपके पास होनी चाहिए।

अन्य इन्वेस्टर: एंजेल इन्वेस्टर के बाद बहुत तरह के इन्वेस्टर होते है जो की तरह-तरह के स्टार्टअप में पैसे में निवेश करते है। यदि आपने खुद के पैसे या एंजेल इन्वेस्टर से लिए हुए पैसे से अपने बिज़नेस को बड़ा और कामयाब कर लेते है तो आपको बहुत तरह के इन्वेस्टर मिलेंगे जो आपके बिज़नेस में इन्वेस्ट करने को तैयार रहेंगे।

Advertisement

शेयर बाजार: जब आपका बिज़नेस काफी बड़ा और सफल हो चुका होगा तब आपके लिए शेयर बाजार है। शेयर बाजार से कोई भी बिज़नेस कितना भी पैसा हासिल कर सकती है।

कंपनी रजिस्टर करवाएं

अब तक आप उस मोड़ पर आ चुके होंगे जब आपको अपने कंपनी को रजिस्टर करवाना होंगे। वैसे हर एक देश में कंपनी को रजिस्टर करवाने का प्रॉसेस काफी हद तक अलग है। यदि आप भारत में अपना स्टार्टअप शुरू करना चाहते है तो स्टार्टअप/बिज़नेस रजिस्टर करवाने के बहुत से ऑप्शन है, जैसे Public Limited Company, Private Limited Company, Joint-Venture Company, Partnership Firm, One Person Company, Sole Proprietorship, आदि। यदि आप किसी इन्वेस्टर से अपने बिजनेस में निवेश करवाना चाहते है तो आप अपने स्टार्टअप/बिज़नेस को Private Limited के तौर पर रजिस्टर कराए।

हम आपको यह भी बता दे कि यदि आपका बिज़नेस/स्टार्टअप आईडिया काफी यूनिक है और आप आगे चल करके इस बिज़नेस को पुरे देश और दुनिया में लेकर जाना चाहते है तो आप ट्रेडमार्क रजिस्टर करवा सकते है। इससे आपके बिज़नेस का कोई नक़ल नहीं कर सकता है।

स्टार्टअप में कर्मचारी नियुक्त करे

आए दिन हमें सुनने को मिलता है की बेरोजगारी दिन प्रति दिन बढ़ती जा रही है। हमें और आपको यह भी लगता है की जब लोग इतनी पढ़ाई करते है तो उनको नौकरी क्यों नहीं मिलती है। वही हम आपको बता दे कि एक कंपनी को अच्छे कर्मचारी नहीं मिल पाते है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जो स्कूल और कॉलेज में पढ़ाया जाता है वह नौकरी पाने के लिए पूरा नहीं होता है। तो अब आप एक स्टार्टअप शुरू कर रहे है तो आपको भी अपनी कंपनी में काम करने वाले कर्मचारी को खोजने के लिए काफी मेहनत करनी हो सकती है। वैसे तो आपके पास बहुत से उम्मीदवार नौकरी पाने के लिए आ सकते है, लेकिन काबिल उम्मीदवार काफी कम ही होंगे।

स्टार्टअप के लिए रणनीति बनाए

आपको लग सकता है कि हमने आपको ऊपर भी बिज़नेस प्लान बनाने को बोला और फिर से हम आपको स्टार्टअप के लिए रणनीति बनने को बोल रहे है। चलिए हम आपको बताते है ऐसा क्यों? किसी भी स्टार्टअप/बिज़नेस को शुरू करने के मतलब होता है कि उसको दिन प्रति दिन बड़ा और सफल बनाया जाए। इस समय कोई न कोई नया बिज़नेस शुरू होता रहता है। जिससे कम्पेशन काफी बढ़ जाता है। एक बिज़नेस को कई लोगो द्वारा कॉपी भी किया जाता है। लेकिन इस कम्पेशन के दौर में वही बिज़नेस आगे निकल पाता है जिसके पास रणनीति हो। एक बार रणनीति बनाने से भी कुछ नहीं हो सकता है। कम से कम हर महीने अपने रणनीति में बदलाव करना होता है। तो आपको भी अपने स्टार्टअप को सफल बनाने के लिए कम से कम हर महीने एक नई रणनीति बनाना होगा।

रणनीति के हिसाब से काम करना शुरू कर दे

अब आपका स्टार्टअप शुरू हो चुका है। अब आपको अपने स्टार्टअप को चलाना है। ऐसे चलाना है कि आपकी सफलता पूरी दुनिया देखती रहे। अब आपके मन में सवाल आ चकता है कि स्टार्टअप को कैसे चलाया जाता है। चलिए हम आपके इस सवाल का भी जवाब देते है। स्टार्टअप को चलाने के लिए सबसे पहले आपको अपने अंदर देखना होगा। आपके अंदर क्या कमी है और क्या अच्छाई है। अब आपके अंदर जो भी कमी है उसको सही करना शुरू कर दे। कुछ ऐसे भी कमी होती है जिसको जल्दी से सही नहीं किया जा सकता है या कभी नही सही किया जा सकता है। ऐसे में आपको अपने स्टार्टअप में एक डिपार्टमेंट बनाना होगा। यह डिपार्टमेंट आपके उस कमी को पूरा कर देगा जिससे आपके बिज़नेस को नुकसान हो सकता है। मान लीजिए आपको सब कुछ करना आता है लेकिन मार्केटिंग करना नहीं आता है। अब तुरंत से आप मार्केटिंग करना सीख तो नहीं सकते है। ऐसे में आपको मार्केटिंग के लिए एक डिपार्टमेंट बना देना चाहिए। इसके अलावा आप किसी कंपनी/एजेंसी को भी कॉन्ट्रैक्ट दे सकते है। हमारे हिसाब से Vinsuh कंपनी मार्केटिंग और डिजिटल सर्विस के लिए बहुत अच्छी कंपनी है।

स्टार्टअप को डिजिटल भी करते रहे

किसी भी बिजनेस या स्टार्टअप को तुरन्त डिजिटल करना मुश्किल होता है। लेकिन इस समय बिज़नेस को डिजिटल करना भी बहुत जरुरी है। आज के समय जो बिज़नेस ऑनलाइन है वह काफी ज्यादा लोगो तक अपने कंपनी के सामान और सर्विस के लेकर जा रहे है। आसान शब्दों में कहा जाए तो डिजिटल होना बहुत ज्यादा जरूरी हो चूका है। वैसे तो इस समय किसी भी बिज़नेस को डिजिटल करने के लिए बहुत से कंपनी मौजूद है लेकिन उसमे से एक अच्छी कंपनी का नाम Vinsuh है। इनकी सर्विस काफी ज्यादा अच्छी होती है। इसके अलावा यह अन्य सभी कंपनी से कम दाम पर अच्छी सर्विस भी प्रदान करते है। यदि आपको अपने बिज़नेस की मार्केटिंग करनी है या बिज़नेस को ऑनलाइन करना है तो आप Vinsuh की टीम से जरूर सम्पर्क करे।

यह भी जाने: Offline business को online कैसे करे

निष्कर्ष

अंत में आपको हम बस इतना ही कहना चाहूंगे की किसी स्टार्टअप को इस समय भारत देश में शुरू करना मुश्किल नहीं है। आप मात्र 10 दिन के अंदर अपने बिज़नेस को रजिस्टर करवा सकते है लेकिन बिज़नेस को सफल बनाना काफी मुश्किल है। भारत में ही नहीं पूरी दुनिया में स्टार्टअप को सफल करना मुश्किल है। अब आप सोच रहे होंगे कि मेरा स्टार्टअप आईडिया काफी दमदार है मैं तो जल्दी से सफल बिज़नेस बना लगा। हम आपको बता दे कि जब आप बिज़नेस को शुरू करेंगे तो आपको बहुत कुछ सीखना है। स्टार्टअप को सफल करने का एक मात्र तरीका है कभी हार न माना, सीखते रहना, बदलाव करते रहना।

Advertisement

Previous articleपैसा से पैसा कैसे कमाए | how to earn money from money in Hindi
Next articleइलेक्ट्रिक बिजनेस की पूरी जानकारी हिंदी में- Best electrical business tips in Hindi
Avatar photo
नमस्ते, मेरा नाम sohail है। मुझे बिज़नेस के बारे में लिखना पसंद है। मैंने खुद भी business किया है। मुझे बिज़नेस करने का लम्बे समय का ज्ञान है। मुझे बिज़नेस का ज्ञान बिज़नेस के किताब को पढ़ने से आता है। Email Id: [email protected]

1 COMMENT

  1. मैं आपकी वेबसाइट को बहुत ही ज्यादा पसंद करता हूं, ऐसी वेबसाइट किसी की नहीं मिली अभी तक। और आपके ऑर्टिकल पढ़ने के बाद मैंने भीं ब्लॉग लिखाना शुरू किया हैं, क्या आप मेरी वेबसाइट देख कर बता सकते हैं। क्या मैं सही काम कर रहा हूं प्लीज़ मेरी मदद करें।

    Display Attraction

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here