नकारात्मक विचार और सोच को कैसे दूर करे? overcome negative thought in hindi

क्या आप भी यह जानना चाहते है कि आप कैसे अपने नेगेटिव सोच और विचार को कम कर सकते है। इस समय हर एक इंसान नकारात्मक विचार और सोच के जाल में फसा हुआ है।

एक इंसान को एक दिन में अनगिनत नकारात्मक विचार आते रहते है। पर कुछ लोग अपने नकारात्मक विचार को कम कर लेते है पर कुछ लोग के साथ ऐसा भी होता है कि उनका नकारात्मक विचार बढ़ता जाता है।

अगर आप भी नकारात्मक विचार और सोच से झुटकारा पाना चाहते है तो हम इस पोस्ट में यही जानेगे कि हम कैसे अपने नकारात्मक विचार को कम कर सकते है।

नकारात्मक विचार और सोच आने के बहुत से कारण हो सकते है। पर जिस व्यक्ति को अपने नकारात्मक विचार और सोच को कम करना है, उसे नकारात्मक विचार आने के बारे में ज्यादा नहीं जानना चाहिए।

बल्कि उसे इस चीज के बारे में ज्यादा जानना चाहिए कि वह कैसे अपने नकारात्मक सोच को कम कर सकता है (overcome negative thought in hindi)।

यह भी जाने: सकारात्मक सोच के टिप्स हिंदी में

नकारात्मक विचार वाले इंसान से दूरी बनाए

नकारात्मक विचार से बचने के लिए आप सबसे पहले उस तरह के इंसान से दूरी बनाये जो नकारात्मक सोच रखते है।

एक रिसर्च के अनुसार हम जैसे लोगो के साथ रहते है हमारे ऊपर उनका सीधा असर पड़ता है। इसलिए आप नकारात्मक सोच को दूर करने के लिए नकारात्मक सोच वाले इन्सान से दूर रहे।

इसके साथ ही सकारात्मक सोच को बढ़ाने के लिए सकारात्मक सोच वाले व्यक्ति के साथ रहे।

नकारात्मक काम को न करें

कुछ काम ऐसे भी होते है जो हमारे अंदर नकारात्मक सोच को जन्म देते है। हमें अपने नकारात्मक विचार को कम करने के लिए नकारात्मक कामो से दूर रहना चाहिए।

इसके साथ ही सकारात्मक काम को ज्यादा करना चाहिए। नकारात्मक काम जैसे कि किसी के बारे में बुरा सोचना, किसी से झगड़ा करना, आदि।

यह भी जाने: ज़िन्दगी जीने का तरीका हिंदी में

नकारात्मक सोच आने पर किसी और चीज पर विचार करें या कुछ काम करे

कभी हम चाह कर भी अपनी नकारात्मक सोच को रोक नहीं पाते है। एक पर एक नकारात्मक विचार दिमाग में आते रहते है।

हम समझ ही नहीं पाते है कि हम क्या करे? ऐसे में आप किसी दूसरे चीज के बारे में सोचने लगे या फिर कोई दूसरा काम करने लगे।

ऐसा करने से आपका नकारात्मक सोच दूसरे सोच से ख़त्म हो जाएगा। या फिर अगर आप कोई दूसरा काम करेंगे तो आपका दिमाग उस काम के बारे में सोचना शुरू कर देगा।

नकारात्मक सोच को लिखे

कभी-कभी ऐसा भी होता है जब हम कोई काम कर रहे होते है तो हमारे दिमाग में एक से बड़ा एक नकारात्मक सोच आने लगता है।

जिसके कारण हम अपना काम भी नहीं कर पाते है। इस तरह के समय में अपनी नकारात्मक सोच को दूर करने के लिए आप अपने नकारात्मक सोच को किसी कॉपी में लिखे।

आपके नकारात्मक विचार को लिखने के बाद आपका वह विचार आपके दिमाग से निकल जाएगा। जिसके कारण दिमाग शांत हो जाता है और आप अपने काम को कर पाते है।

यह भी जाने: कम बोलने का फायदा

प्रकृति के साथ समय बिताये

कभी कभी हमारे दिमाग में लाखों तरह के विचार आते है। वह विचार सही भी होते है तब भी हमारा दिमाग उसे नकारात्मक मन लेता है।

इसका कई कारण हो सकता है लेकिन मुख्य कारण हमारा अहंकार होता है। हमारा अहंकार हमें समय के साथ नकारात्मक सोच से भरने लगता है।

अपने नकारात्मक सोच और अहंकार को कम करने के लिए हमें प्रकृति के साथ समय बिताना चाहिए।

प्रकृति के साथ समय बिताने पर हम सकारात्मक सोच और विचार से भर जाते है। इसके साथ ही हमारा अहंकार भी ख़त्म हो जाता है।

यह भी जाने: मन को शांत करने के उपाय

सो जाए या व्यायाम करें

जब भी आपका दिमाग नकारात्मक से भर जाए और आप चाह कर भी अपने नकारात्मक सोच को कम नहीं कर पा रहे हो तो ऐसे समय में सो जाना अच्छा होता है।

सोने के बाद दिमाग खुद ही शांत हो जाता है। सोने के अलावा व्यायाम भी किया जा सकता है। व्यायाम भी नकारात्मक को बहुत हद तक कम कर देता है।

यह भी जाने: रात को जल्द नींद के लिए उपाय हिंदी में

खाली न रहे

उस इंसान के दिमाग में ज्यादा नकारात्मक विचार आता है जिस इंसान के पास कोई काम नहीं होता है, यानी खाली होता है।

अपने विचार को रोकने के लिए आपको कुछ न कुछ करते रहना चाहिए। कुछ न कुछ काम करते रहें और उसके बारे में सोचते रहने से दिमाग में किसी तरह का नकारात्मक सोच नहीं होता है।

नकारात्मक सोच खाली दिमाग को ही सबसे पहले अपना घर बनाता है।

यह भी जाने: दिमाग को नियंत्रित कैसे करे

दूसरों के विचार पर ध्यान न दे

किसी भी दूसरे इंसान की सोच और विचार कभी भी बदले सकती है। इसके साथ ही कुछ लोग ऐसे भी होते है जो हमेशा नकारात्मक विचार ही रखते है।

किसी भी सकारात्मक चीज को भी वह नकारात्मक विचार से देखते है। किसी को भी किसी दूसरे इंसान के विचार और सोच पर ध्यान नहीं देना चाहिए।

अगर कोई भी इंसान आपके बारे में नकारात्मक सोच रखता है तो यह उसका कारण है न की आपका।

बस आप दूसरों के नकारात्मक विचार को अपने पास न रखे। आपको दूसरे कितना भी कहे कि आप सफल नहीं हो सकते है पर जब तक आप मान कर चले की आप सफल हो सकते है तो आप सफल जरूर होंगे।

बस आप खुद को रोज बेहतर करते रहे।

यह भी जाने: दिमाग को फ्रेश करने के टिप्स हिंदी में

अपने काम से काम रखें

दूसरों के काम में दखलअंदाजी देना भी नकारात्मक सोच का कारण बनता है। हमें अपने काम के ऊपर पूरा ध्यान देना चाहिए।

कभी भी हमें किसी दूसरे इंसान के काम में दखल नहीं होना चाहिए। जब आप अपने काम को करेंगे तो आपका काम भी ख़त्म हो जाएगा और आपको अपने अपने काम से जुडी नकारात्मक सोच भी नहीं होगी।

यह भी जाने: खुश कैसे रहे

उस काम को करे जिसके लिए आप नकारात्मक सोच रखते है

उस काम को भी करें जिस काम को करने आपको डर लगता है। कभी-कभी ऐसा भी होता है कि हम उस काम के बारे में नकारात्मक सोच होता है जो काम हमारे लिए बहुत जरूरी होता है। जैसे पढ़ाई करना, बिज़नेस करना, आदि।

पढ़ाई करना एक छात्र के लिए बहुत जरुरी काम में से एक काम होता है। ऐसे में अगर छात्र को अपने पढ़ाई करने में नकारात्मक सोच आता है तो उसे और ज्यादा मेहनत के साथ पढ़ाई करना चाहिए।

कुछ समय लगातार मेहनत से पढ़ाई करने के बाद पढ़ाई का नकारात्मक सोच ख़त्म हो जाता है।

ऐसा ही दूसरे किसी काम में किया जा सकता है। कुछ समय के बाद नकारात्मक विचार उस काम के लिए ख़त्म हो जाएगा।

यह भी जाने: डर को दूर कैसे करे

अंत में

यहाँ पर हमने जाना कि हम कैसे अपने नेगेटिव विचार को दूर कर सकते है (overcome negative thought in hindi)। यह नेगेटिव सोच हमारे दिमाग को पूरी तरह से कब्ज़ा कर लेता है और हम कुछ नहीं कर पाते है। इसलिए हमने नकारात्मक विचार को दूर करने के तरीके को जाना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here